Homeदिलचस्पइंडोनेशिया की नदी में निकल रहा सोना, रातों रात...

इंडोनेशिया की नदी में निकल रहा सोना, रातों रात करोड़पति बन रहे लोग, जानें क्या है सच्चाई

बचपन में अक्सर आपने सोने की नदी वाली कहानी सुनी होगी। लेकिन कहानियों की यह नदी किसी ने नहीं देखी। अक्सर हम कहानियों और किस्सों को झूठला देते है, लेकिन वर्तमान में ऐसी ही एक अनोखी नदी को खोजा गया है, जहां  सच का सोना निकलता है।

जी हां…..हम सच कह रहें है। हाल ही में इंडोनेशिया में एक द्वीप मिला है जहां की नदी में लोगों को सोने के कई सारे जैवर और सामान मिले हैं।

इंडोनेशिया में मिली सोने की नदी

इंडोनेशिया पालेमबैग प्रांत की मुसी नदी में लोगों को सोने के जेवर, अंगूठियां, बौध्द मूर्तिया और चीनी के कीमती सिरेमिल बर्तन भी मिले है। नदी की तलहटी से सोने के आभूषण और कई सारी कीमती वस्तुएं भी मिली है।

लोगों का मानना है कि यह द्वीप कई सालों से गायब था और इसमें कई सारे खजानें दबे हुए हैं।

लोक कथाओं की माने तो इस द्वीप का नाम श्रीविज्या शहर है, और यहां पर इंसानों का खाने वाले सांप भी रहते हैं। कहा जाता है कि यहां पर ज्वालामुखी भी फटता है।

इतिहास में रहा है रईसों का शहर

इतिहास में इस द्वीप को रईसों का शहर कहा जाता था। यह दुनिया के पूर्व और पश्चिम के देशों को व्यापारिक रुप से आपस में जोड़ता है। यह द्वीप मूसी नदी के किनारे पर स्थित है।

प्राचीन लोककथाओं की मानें तो यहां की मलका खाड़ी पर राज करने वाले राजाओं के साम्राज्य के लिए हुए युद्ध में यह शहर तहस-नहस हो गया था।

युद्ध में हार के बाद भी इस शहर नें 2 दशकों तक व्यापार होता रहा। 1390 में श्रीविज्या साम्राज्य के राजकुमार परमेश्वरो के वापस आने इसे पाने के लिए पड़ोसी राजा से युद्ध लड़ा था, लेकिन इस युद्ध में परमेश्वरों को हार का सामना करना पड़ा था।

चीनी समुद्री लुटेरों का स्वर्ग बना श्रीविजिया शहर

इस युद्ध को बाद इस शहर पर चीनी समुद्री लुटेरों ने अपना अधिकार कर लिया। यह शहर उनके लिए स्वर्ग के समान बन गया था। इतिहासकारों का मानना है की आज भी मूसी नदी के नीचे वह साम्राज्य कायम है।

इस इलाके में अक्सर गोताखोरों को नदी की तलहटी में सोने के आभूषण और यंत्र मिलते रहते है। इस कारण उस शहर के होने की आशंका इतिहासकारों द्वारा जताई जाती है।

Latest Posts