Homeअध्यात्महरियाणा: 19 नवंबर से शुरू होगा अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव,...

हरियाणा: 19 नवंबर से शुरू होगा अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव, राष्ट्रपति करेंगी उद्घाटन

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने सोमवार को कहा कि सलाना ‘अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव’ 19 नवंबर से 6 दिसंबर तक कुरुक्षेत्र में आयोजित किया जाएगा। इस महोत्सव का उद्घाटन महामहिम राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू करेंगी। इसके अलावा 29 नवंबर को कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के ब्रह्मसरोवर में गीता यज्ञ के प्रमुख कार्यक्रर्मों का भी उद्घाटन करेंगी।

सीएम खट्टर ने कहा, “इस संगोष्ठी में श्रीमद्भगवद गीता के प्रसिद्ध अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय विद्वान और देश-विदेश के शोधकर्ता ‘विश्व शांति और सद्भाव’ पर अपने शोध पत्र प्रस्तुत करेंगे।” मुख्यमंत्री ने कहा कि 19 नवंबर से 6 दिसंबर तक सरस एवं शिल्प मेला भी लगेगा।

Source- Twitter

खट्टर ने संवाददाताओं से कहा कि 2019 में ‘अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव’ मॉरीशस और बाद में लंदन में मनाया गया। जबकि सितंबर में, यह कनाडा में आयोजित किया गया था। उन्होंने कहा कि इस वर्ष नेपाल भागीदार देश होगा और मध्य प्रदेश महोत्सव का भागीदार राज्य होगा।

मुख्यमंत्री मनोहर खट्टर ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार द्वारा पुरुषोत्तमपुरा बाग, ब्रह्मसरोवर में राज्य की संस्कृति, शिल्प और खान-पान पर प्रकाश डालने वाला विशेष मंडप बनाया गया है। इसके अलावा लोक नृत्य, शिल्प, लघु उद्योग तथा राजकीय भोजन को प्रदर्शित करने वाला हरियाणा मंडप भी स्थापित किया गया है।

Source- The Statesman

कुछ देशों के राजदूत भी होंगे कार्यक्रम का हिस्सा

मुख्यमंत्री खट्टर ने आगे कहा कि अज़रबैजान, इथियोपिया और वियतनाम सहित विभिन्न देशों के राजदूतों के ‘अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव’ में भाग लेने की संभावना है। उन्हें न्योता भेज दिया गया है। सोशल मीडिया के माध्यम से देश विदेश में रह रहे भारतीयों को भी इस अद्भुत कार्यक्रम की झलक देखने को मिलेगी।

उन्होंने कहा, “अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव-2022 के शुरू होने से पहले ही अमेरिका, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, ब्रिटेन, पोलैंड और चीन समेत 25 से ज्यादा देशों के चार लाख से ज्यादा लोग सोशल मीडिया के जरिए इस महोत्सव में शामिल हुए। 3.80 लाख से अधिक लोग आईजीएम-2022 वेबसाइट के वेबपेज पर जा चुके हैं।”

18 हजार छात्र करेंगे गीता श्लोकों का पाठ

सीएम एम एल खट्टर ने कहा कि चार दिसंबर को ‘गीता जयंती दिवस’ पर कुरुक्षेत्र में 18 हजार छात्र गीता श्लोकों का पाठ करेंगे। उन्होंने कहा कि कुरुक्षेत्र में लगभग 250 करोड़ रुपये की लागत से छह संग्रहालय भी बन रहे हैं, जहां महाभारत और गीता से संबंधित एपिसोड डिजिटल रूप से दिखाए जाएंगे।

Source- Jagran

भगवद गीता पर अपने शोध के लिए जाने जाने वाले और प्रसिद्ध गीता वक्ता स्वामी ज्ञानानंद ने कहा, “गीता का संदेश शाश्वत प्रासंगिकता रखता है और यह हजारों वर्षों से मनुष्यों को प्रेरित करता रहा है।”

Shraddha
Shraddha
Journalist, Writer, a history buff with a spiritual mind.

Latest Posts