Homeभारतलखनऊ में पांच मंजिला इमारत भूकंप की वजह से...

लखनऊ में पांच मंजिला इमारत भूकंप की वजह से गिरी, अब इस सपा नेता के लिए बन गई है मुसीबत, यहां जानिए पूरी डिटेल 

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में कल रात में पॉश इलाके ने पांच मंजिला इमारत गिर गई है। जिसमे करीब 30 से 35 लोगो के होने की संभावना जताई जा रही है। अब तक 16 लोगो को मलबे से बाहर निकाल लिया गया है। जिसमे 2 महिलाओं की मौत हो गई है। इस इमारत में समाजवादी पार्टी के नेता अपने परिवार के साथ रहते थे। लेकिन अब इसी सपा नेता के लिए मुसीबत हो गई है। इस बिल्डिंग के गिरने के बाद उनके बेटे को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। ये सपा नेता और कोई नही बल्कि शाहिद मंजूर है। जिन्होंने ने मेरठ के किठौर सीट से विधायक है। विधायक के साथ ही शाहिद मंजूर सपा के प्रवक्ता भी है। शाहिद मंजूर के बेटे नवाजिश को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। इस भूकंप की वजह से बिल्डिंग के गिरने की बात सामने आई है। तो वही, अब इस बिल्डिंग के मालिक को हिरासत में ले लिया गया है। ये बिल्डिंग शाहिद मंजूर के बेटे नवाजिश की है। जिसकी वजह से वह पुलिस हिरासत में है। बता दे आपको कि इस बिल्डिंग को यजदान बिल्डर ने बनाया था। ये हिल्डर बिल्डिंग गिरने के बाद गायब हो गया है। अब इस बिल्डर की तलाश की जा रही है।

बिल्डिंग के गिरने के बाद इस बिल्डिंग के मालिक जैसे नवाजिश मंजूर को मेरठ पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। जिसके बाद उन्हें लखनऊ भेज दिया गया है। बात दे आपको कि हजरतगंज के वजीर हसन रोड पर स्थित अलाया अपार्टमेंट की जमीन को 2003 में समाजवादी पार्टी (सपा) सरकार में मंत्री रहे शाहिद मंजूर की बेटे नवाजिश और उनके भतीजे तारीक ने खरीदी थी। जिसे बिल्डर यजदान ने बनाया था। इस बिल्डिंग में चार मंजिला इमारत और एक पेंट हाउस बनाया गया था। इस पेंट हाउस को सपा नेता अब्बास हैदर को बेच दिया गया था। इस बिल्डिंग में जिन दो महिलाओं की मौत हुई है वो दोनो अब्बास हैदर की पत्नी और मां है। अब्बास हैदर ने इस मामले के आरोपी पर कड़ी से कड़ी सजा दिलाने की मांग करी है।

Prabhat Khabar

अलया अपार्टमेंट की जमीन थी जमींदोज

बात दे आपको कि इस बिल्डिंग के अभी फ्लैट शाहिद मंजूर के बेटे और भतीजे के नाम रजिस्टर है। तो वही, इस अपार्टमेंट का ढांचा काफी बुरा था। बेहद ही खराब समान से तैयार किया गया था। बिल्डिंग को मजबूती से नही बनाया गया था। इसके साथ ही एक और खबर सामने आई है कि इस अपार्टमेंट में रहने वाले लोगो ने बताया है कि जबरदस्ती पेंट हाउस का निर्माण करवाया गया था। जबकि ये नक्से में था ही नही। इस बिल्डिंग के जमींदोज होने के बाद लखनऊ मंडलायुक्त डॉ. रोशन जैकब ने लखनऊ शहर में यजदान बिल्डर्स द्वारा बनाई गई अन्य बिल्डिंगों की भी जांच करने के निर्देश दिया है।

Latest Posts