Homeदिलचस्पनौकरी छोड़ कर 16 लाख रुपयों से शुरू की...

नौकरी छोड़ कर 16 लाख रुपयों से शुरू की कंपनी, आज हैं 2200 करोड़ के मालिक…

BoAt कंपनी के बारे में आज हर कोई जानता है। लोग अक्सर इस कंपनी के इयरफोन और ब्लूटूथ खरीदते रहते हैं। बता दे कि आज ये कंपनी करोड़ों की कंपनी है लेकिन इसका सफर इतना आसान नहीं था। आईए आज हम आपको बताते हैं BoAt Lifestyle की सफलता की पीछे की पूरी कहानी-

इस तरह से हुई थी कंपनी की शुरुआत

इस कंपनी की शुरुआत के बारे में बात करें तो यह साल 2016 में शुरू की गई थी। BoAt की संस्थापना अमन गुप्ता और समीर मेहता ने की थी। बता दें कि इन दोनों ने इस कंपनी को सिर्फ 16 लाख रुपये से शुरू किया था और उन्होंने अपनी मेहनत के दम पर लगभग 5 साल बाद इस कंपनी की वैल्यू बढ़ाकर 2100 करोड़ कर दी है।

सोर्स: Prerna

जब समीर मेहता और अमन गुप्ता मिले थे तब समीर मेहता उन दिनों कोर इंडिया के निदेशक के पद पर काम कर रहे थे जबकि अमन गुप्ता देश के एक कम उम्र के सीए थे यानी चार्टेड अकाउंटेंट थे। दोनों ने अपनी नौकरी के दौरान मिले अनुभव से कंपनी की स्थापना की। उन्होंने अपनी शुरुआती दौर में ये महसूस किया कि लगभग ज्यादातर कंपनियां ग्राहकों की जरूरतों के अनुसार उत्पाद बनाती है और फिर उसे ग्राहकों के खरीदने लायक कीमत पर बेच देती है। ये सब देखकर उन्होंने साल 2016 में एक कंपनी की शुरुआत की जिसका नाम BoAt Lifestyle रखा।

चीन का दबदबा था ऑडियो बाजार में

सोर्स: प्रेरणा

बता दें कि उस समय इस कंपनी के लिए मार्केट में अपना वर्चस्व स्थापित करना बहुत मुश्किल था क्योंकि उस दौरान लगभग सभी चाइनीज कंपनियों का ऑडियो बाजार में काफी दबदबा हुआ करता था। ऐसे में BoAt Lifestyle कंपनी को बहुत सारी कठिन चुनौतियां झेलनी पड़ी। समीर और रमन दोनों इस बात को अच्छे से जानते थे और इसी वजह से वे अपने उत्पाद बाजार में उतारने से पहले खुद प्रयोग करते थे। वे एक ऐसी योजना चाहते थे जिससे वे लंबे समय तक बाजार में रह सके क्योंकि पहले से ही बड़ी कंपनियां इन उत्पादों को बाजार में बेच रही थीं।

यह थी कंपनी की रणनीति

सबसे पहले कंपनी ने ग्राहकों की जरूरतों को अच्छी तरह से समझा और उसके बाद इन्हीं जरूरतों के आधार पर उत्पादों को भी डिजाइन किया गया। अब ये डिज़ाइन उत्पाद चीन से बनाए गए थे। अंत में, इन उत्पादों को ई-कॉमर्स कंपनियों के माध्यम से भारत के लोगों तक पहुंचाया गया। आज ये कंपनी इतनी बड़ी बन गई है कि बड़ी बड़ी चीन की कंपनियों को टक्कर देती है।

Latest Posts